Cyberbullying is a crime : How to Prevent Cyber Bullying in Hindi


Cyberbullying is a crime : How to Prevent Cyber Bullying in Hindi



अगर आप भी ऐसे ही comments या messages किसी को करते हो या आपके पोस्ट पर भी ऐसे messages आते हैं तो आप भी cyberbullying के शिकार हो या आप किसी को cyberbullying कर रहे हो।

आपके मन में ये खयाल आ रहा होगा कि ये cyberbullying क्या है? 

आपने फिलहाल YOUTUBE VS TIKTOK : THE END के बारे में जरुर सुना होगा जो की यूट्यूब के द्वारा इसी Cyberbullying and Harassment act के कारण यूट्यूब ने वीडियो को अपने server से हटा दिया।

इस आर्टिकल में हम इसी बात पर चर्चा करूंगा।

Cyberbullying क्या होती है? इसका लोगों पर कैसा impact पड़ता है? और क्या इससे बचा जा सकता है?

आसान शब्दों में बोलूं तो आपके पोस्ट या messages में आए ऐसे statements जो आपको या किसी और को uncomfortable कर दे।

जब आप किसी और का मज़ाक उड़ाते हो मतलब की ट्रोल करते हो उसे है cyberbullying कहते हैं।

एक fact बताऊं पूरी दुनिया में भारत cyberbullying के मामले में तीसरे नंबर पर है।

जी हां! सही सुना आपने 3rd स्थान पर भारत आता है। वहीं पहले नंबर पर China दूसरे नंबर पर Singapore के बाद।

चलो कहीं तो तरक्की कर रहे हैं। कभी न कभी नंबर 1 पर आ ही जाएंगे।

एक रिपोर्ट के अनुसार इंडिया में हर 10 में से 8 लोग cyberbullying का शिकार हैं। मतलब आपके होने के भी पूरे chances हैं।



आप सब को 2017 का ये पोस्ट तो याद ही होगा जिसके बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया था। और कई सारी राजनीतिक पार्टियों ने दंगे भी किए थे। 

उस समय गुर्मेहर को भर भर के threats आए थे लेकिन कमल का बात पता है आपको क्या हुआ था।

आज भी ये threats रुके नहीं है मतलब platform पर आने के बाद ये cyberbullying का वायरस रुकता नहीं है, फैलता जाता है।

और इसे फैलाता कौन है...! आप।


  • Anger
  • Depression
  • Isolation
  • Anxiety
  • Humiliation
  • Illnesses


 ये तो सिर्फ कुछ Cyberbullying के effects हैं।

Cyberbullying के कारण कुछ ने तो suicide भी कर लिया। तो समझ जाओ आपका एक बेहूदा message किसी के जिंदगी को किस लेवल तक affect कर सकता है।

आपने अब तक ये जान लिया कि cyberbullying किसी को कितना damage पहुंचा सकता है।

इससे बचा जा सकता है,कैसे?

मै बताता हूं...।


Report on Platform



यदि कोई आपको cyberbullying कर रहा है तो आप सबसे पहले उस पोस्ट/message/comment का screenshot लो और फिर उस पोस्ट या person को उसी प्लेटफॉर्म पर रिपोर्ट करो क्युकी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इस टाइप के cases को बहुत seriously लेते है। और उसपर बहुत strict action भी लेते हैं।


Share



Cyberbullying होने पर आप अपने emotions और anger को अंदर रखने के बजाए आप उसे अपने भरोसेमंद मित्र या फैमिली के साथ शेयर करें।

अगर कोई आपको आपके प्राइवेट इंफॉर्मेशन से ब्लैकमेल कर रहा है तो किसी से शेयर करने पर आप एक बेहतर फैसला ले पाओगे।

अगर अपने अपने फ्रेंड की ऐसे ही किसी मामले में हेल्प कि हो तो मुझे कॉमेंट्स में जरुर बताना।


Report to Authorities


IT Act के section 66A तहत किसी भी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर किसी को कोई बेहूदा मेसेज करना, गलत इंफॉर्मेशन शेयर करना, किसी की इंसल्ट के लिए कमेंट करना एक criminal offense  है और ऐसा करने पर 3 साल की जेल भी है।


अगर आप के साथ भी ऐसा कुछ हो रहा है तो आप अपने एरिया के cyber security cell को रिपोर्ट कर सकते हो।

इतना ही नहीं बहुत सारी NGOs भी हैं जो Cyberbullying के against काम करती है। जो आपकी हेल्प जरुर करेंगे।


Parental Control App



अगर आप एक parent  हो या घर के बड़े सदस्य हो तो आप Parental Control App का इस्तेमाल कर सकते हो।

जैसे FamiSafe से आप गलत web pages  या ऐप्स को ब्लॉक कर सकते हो, Location Track कर सकते हो, आपके बच्चे कितने देर मोबाइल युज कर रहे हैं वो भी कंट्रोल कर सकते हो और भी कमल के फीचर्स इसमें है। ये ऐप iOS  और android  दोनों पर available  है।

आपको इस ऐप को अपने और अपने बच्चे के फोन में install करना है और register कर के Cyberbullying से साफ़ रहो।

अभी के लिए सिर्फ इतना ही जल्दी मिलते है इसी से इससे भी बढ़िया वाली पोस्ट के साथ।

और हां...! पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद आप इसे दूसरों तक जरुर पहुंचाए शायद उन्हें इसकी ज्यादा जरूरत हो।

आशा करता हूं आपने जरुर कुछ नया सीखा होगा।

Post a Comment

0 Comments